इटानगर। ।

अरुणाचल प्रदेश के पूर्व राज्यपाल डॉ. माता प्रसाद ने कहा कि राज्यपाल राजनीति से ऊपर होता है। राज्यपाल को राजनीति से प्रेरित निर्णय नहीं लेना चाहिए। पूर्व राज्यपाल कुशीनगर जिले में मौलिक अधिकार संघर्ष समिति (मास) के दो दिवसीय 21 वें राज्य अधिवेशन का बतौर मुख्य अतिथि उद्घाटन करने आए थे।



बातचीत में उन्होंने कहा कि आजकल राज्यपाल राजनीति से प्रेरित कार्य कर रहे हैं। ऐसा नहीं होना चाहिए। उन्हें पक्ष और विपक्ष की बात सुनकर अपना निर्णय देना चाहिए, लेकिन यह नहीं हो रहा है। पूर्वोत्तर राज्य परिषद के चेयरमैन रहे डा. प्रसाद ने कहा कि पूर्वोत्तर के कुछ राज्यों में देश के अन्य नागरिकों को जाने के लिए परमिट लेना पड़ता है।



वहां की संस्कृति बनी रहे, इसलिए यह प्रतिबंध लागू है। बाहर के लोग जाएंगे, तो वहां की संस्कृति प्रभावित हो जाएगी।


कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने का समर्थन करते हुए पूर्व राज्यपाल ने कहा कि कश्मीर में भी बाहर के लोगों को नहीं बसाया जाना चाहिए, क्योंकि बाहर से जाने वाले लोगों से कश्मीर की कश्मीरियत समाप्त हो जाएगी।