इटानगर ।

आठ दिन पहले लापता हुए वायुसेना के AN-32 विमान का मलबा अरूणाचल प्रदेश के लिपो से 16 किलोमीटर दूर उत्तर की ओर मिला है। इस विमान ने असम के जोरहाट हवाई अड्डे से उड़ान भरी थी जिसके बाद यह गायब हो गया था। इस विमान में क्रू मेंबर समेत 13 लोग सवार थे। अब मलबे तक पहुंचने के लिए पर्वतारोहियों की एक टीम तैयार कर उसें रवाना किया गया है।


जिस जगह पर वायुसेना के AN-32 विमान का मलबा मिला है वहां तक पहुचना काफी कठिन है। इसलिए यहां तक पहुंचने के लिए हेलीकॉप्टर की मदद भी ली जा रही है। इस मलबे का पता खोज अभियान में जुटे वायुसेना के एमआई 17 हेलीकॉप्टर ने लगाया है। यह स्थान 12 हजार ​फीट की ऊंचाई पर स्थित है। विमान में सवार लोगों के बारे में पता लगाने की भी कोशिश की जा रही है।


वायुसेना के इस विमान ने असम के जोरहाट से अरूणाचल प्रदेश के मेचुका एडवांस्ड लैंडिंग ग्राउंड के लिए उड़ान भरी थी। यह विमान रूस निर्मित था। हालांकि उड़ान भरने के कुछ ही समय बाद इस संपर्क राडार से टूट गया था। जिसके बाद किसी तरह की सूचना नहीं मिलने पर इसके लिए खोज अभियान चलाया गया था।