गुवाहाटी ।

हाल ही में असम का उडलगुरी उस समय सुर्खियों में आ गया था जहां एक सांइस टीचर ने एक तांत्रिक के बहकावे में आकर 3 साल की बच्ची की देने की तैयारी कर ली थी। इतना ही नहीं बल्कि इस टीचर ने अपने घर में आग तक लगा दी थी। हालांकि पुलिस ने मौके पर पहुंच कर टीचर को तो गिरफ्तार कर लिया था, लेकिन तांत्रिक फरार था। अब पुलिस ने तांत्रिक को पकड़ने में भी सफलता पा ली है।


शिपाझार के कुरूवर इलाके से गिरफ्तर हुए इस तांत्रिक का नाम रमेश शास्त्री बताया गया है। इसको पकड़ने के लिए दरांग पुलिस के एडिषन सुप्रीटेंडेंट के नेतृत्व में बनी टीम ने यह सफलता प्राप्त की है। उसने कबूल किया है कि घटना वाले दिन 29 वर्षीय सांइस टीचर पुलकेश शास्त्री और उसके परिवार ने 3 साल की बच्ची की बलि देने की कोशिश की थी जिसमें उसका हाथ था। इतना ही नहीं बल्कि उसके कहने पर टीचर ने हाल ही में खरीदी नई मोटरसाइकिल, कार, टेलीविजन, फ्रिज और अन्य कीमती सामानों समेत पूरे घर को भी आग लगा दी थी।


इस घटना को देख स्थानीय निवासी समझ गए थे कि कोई तांत्रिक कार्यक्रम चल रहा है जिसके बाद उन्होंने पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस पर पुलकेश व उसके परिवार ने धारदार हथियारों से हमला तक कर दिया था जिसमें जवाब कार्रवाई में पुलकेश बेटा भी मारा गया था।