नई दिल्ली/गुवाहाटी। ।

मीना कुमारी मैसराम (54 किग्रा) ने जर्मनी के शहर कोलोन में आयोजित कोलोन मुक्केबाजी विश्व कप-2019 में शनिवार को स्वर्ण पदक अपने नाम किया। भारत की साक्षी (57 किग्रा) और प्विलाओ बसुमातारी (64 किग्रा) को हालांकि फाइनल में हार मिली। इन दोनों को रजत पदक से संतोष करना पड़ा है।



भारत ने इस प्रतिष्ठित यूरोपीय टूर्नामेंट में पांच पदक अपने नाम किए। शनिवार को पिंकी रानी (51 किग्रा) और परवीन (60 किग्रा) ने कांस्य पदक हासिल किए। तीन राष्ट्रीय चैम्पियनशिप के अलावा साल 2014 में एशियाई चैम्पियनशिप में कांस्य पदक जीतने वाली मीना ने फाइनल में थाईलैंड की माचाई बुनियानुत को हराया। मीना को छोटा ड्रॉ होने के कारण सीधे फाइनल में खेलने का मौका मिला था।



मौजूदा यूथ वर्ल्ड चैम्पियन सीक्षा का शानदार सफर दो बार की राष्ट्रमंडल रजत पदक विजेता माइकेला वाल्श के खिलाफ खेलते हुए थम गया। आयरलैंड की माइकेला ने साक्षी को 5-0 से हराया। 18 साल की साक्षी ने पहली बार किसी इलीट टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बनाई थी।



इंडिया ओपन विजेता पिलाओ ने चीन की चेनग्यू यांग के खिलाफ अपना श्रेष्ठ प्रदर्शन किया लेकिन वह चीनी खिलाड़ी का सामना नहीं कर सकीं और बंटे हुए अंकों के आधार पर हार गईं।