मशहूर भारत की स्टार फर्राटा धाविका हिमा दास (Hima Das) ने पोलैंड में कुटनो एथलेटिक्स मीट में महिलाओं की 200 मीटर दौड़ में स्वर्ण पदक जीता है। यह दास का एक सप्ताह में दूसरा स्वर्ण पदक है। पिछले कुछ महीने से कमर के दर्द से जूझ रही हिमा ने इस दौड़ में 23.97 सेकंड का समय निकालते हुए गोल्ड पर कब्जा जमाया। वहीं,  हिमा दास के साथ ही दौड़ रही दूसरी भारतीय धावक वी. के. विस्मया (V. K. Vismaya) को रजत पदक मिला। विस्मया ने रेस को पूरा करने में 24.06 सेकंड लिया।



इसके साथ ही राष्ट्रीय रिकॉर्डधारी मोहम्मद अनस (Mohammad Anas) ने पुरुषों की 200 मीटर दौड़ में 21.18 सेकंड का समय निकालकर स्वर्ण पदक जीता। हिमा ने मंगलवार को पोलैंड में ही पोजनान एथलेटिक्स ग्रां प्री में पीला तमगा जीता था। विस्मया अपना निजी सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन (23.75 सेकंड) करके तीसरे स्थान पर रही थी।



एमपी जुबीर ने 400 मीटर बाधा दौड़ में रजत और जितिन पाल ने कांस्य जीता। जुबीर ने 50.21 और जितिन ने 52.26 सेकंड का समय लिया। महिलाओं की 400 मीटर दौड़ में भारत की पी सरिताबेन ने स्वर्ण, सोनिया बैस्या ने रजत और आर विद्या ने कांस्य पदक अपने नाम किया।




हिमा मौजूदा वर्ल्ड जूनियर चैंपियन और 400 मीटर में राष्ट्रीय रिकॉर्डधारी है। एम. पी. जबीर ने पुरूषों की 400 मीटर बाधा दौड़ में रजत पदक जीता जबकि जितिन पाल को कांस्य पदक मिला। महिलाओं की 400 मीटर दौड़ में भारत की पी सरिताबेन, सोनिया बैस्या और आर विद्या ने क्रमश: पहला, दूसरा और तीसरा स्थान हासिल किया।



पोजनान एथलेटिक्स ग्रां प्री में हिमा ने पहली बार 200 मीटर दौड़ में हिस्सा लिया था। उन्होंने 23.65 सेकंड में उस दौड़ को अपने नाम किया था। उसी प्रतियोगिता में विस्मया ने 23.75 सेकंड में कांस्य जीता था। वहीं, पुरुषों की 200 मीटर दौड़ में मोहम्मद अनस ने 20.75 सेकंड का समय लेकर तीसरा स्थान हासिल किया था। उन्हें कांस्य से संतोष करना पड़ा था।