कई ऐसे ट्रैवलर होते हैं जो बेहद कम पैसे में दुनिया की सैर कर रहे होते हैं और अपनी कहानियों को वो शेयर करते हैं। इसलिए आप ट्रैवल ब्लॉग्स पढ़ें। ताकि आपको इस बात का आइडिया मिल सके कि किस तरह कम दाम में यात्रा करें। इसके अलावा अजनबियों से भी बात करें। सफर के दौरान यह भी ज़रूरी है की आप जहां सफर कर रहे हो वहां के स्थानीय लोगों से बोल चाल बढ़ाएं ताकि आप उनके बारे में और उनकी जगह के बारे में और जान सकें। कई बार रहने-खाने की कई दिक्कतें तो लोगों से बस बात करके ही हल हो जाती हैं।



कॉलेज के दिनों में हर किसी का मन करता है कि दोस्तों के साथ किसी बढ़िया से डेस्टिनेशन पर जाएं। जहां खूबसूरती, शांति और एडवेंचर का कॉम्बो हो। लेकिन कॉलेज के वक्त बजट के चलते मन मार लेते हैं और कई ऐसी बेहतरीन यात्राएं नहीं कर पाते जो शायद हमारी जिंदगी को बदल देती। इसलिए आपको बताने जा रहे हैं कैसे आप कॉलेज के टाइम में छोटी-छोटी यात्राओं का अनुभव ले सकते हैं।



टेंट में खर्च करें
किसी होटल व होमस्टे में रहने के बजाए आप टेंट में पैसा खर्च करें। टेंट का खर्च होटल और होमस्टे के मुकाबले बहुत कम होगा और आपका एकस्ट्रा खर्च बच सकता है। कभी-कभी कई ऐसे ट्रेक्स होते हैं जहां आपको टेंट में रात बितानी पड़े। ऐसी ट्रेक्स किसी व्यस्त पहाड़ी शहर में लंबी छुट्टियां बिताने से कई ज्यादा रोमांचक और सस्ता होता है।



ट्रैवलिंग के दौरान हमेशा एक पानी की बोतल लेकर जरुर चलें। इससे आपको बार-बार पानी की बोतल खरीदनी नहीं पड़ेगी और एक्सट्रा खर्च आपके बच जाएंगे। जिसका उपयोग आप आगे कर सकते हैं। इसके अलावा पानी की बोतलें वहां की प्रकृति को नुकसान पहुंचाती हैं। ऐसे में आपकी जिम्मेदारी बनती है कि वहां के नेचर को किसी तरह का नुकसान ना पहुंचाएं।




डिस्काउंट्स होटल ढूंढें
कई बार किसी शहर में होटल्स बहुत महंगे होते हैं। पर ऐसे वक्त में आप अपना दिल छोटा ना करें और कई सारी वेबसाइट्स पर समय बिताकर कम दाम वाले होटल खोजें। कई बार पांच सितारा होटल भी आपको डिस्काउंट दे देता है। इसलिए यात्रा शुरू करने से पहले सस्ते होटल की बुकिंग कर लें।



ब्लॉग्स पढ़ें
कई ऐसे ट्रैवलर होते हैं जो बेहद कम पैसे में दुनिया की सैर कर रहे होते हैं और अपनी कहानियों को वो शेयर करते हैं। इसलिए आप ट्रैवल ब्लॉग्स पढ़ें। ताकि आपको इस बात का आइडिया मिल सके कि किस तरह कम दाम में यात्रा करें। इसके अलावा अजनबियों से भी बात करें। सफर के दौरान यह भी ज़रूरी है की आप जहां सफर कर रहे हो वहां के स्थानीय लोगों से बोल चाल बढ़ाएं ताकि आप उनके बारे में और उनकी जगह के बारे में और जान सकें। कई बार रहने-खाने की कई दिक्कतें तो लोगों से बस बात करके ही हल हो जाती हैं।