गुवाहाटी ।

अभी तक आपने भारत के कई शहरों में मौजूद अनोखे बाजारों के बारे में सुना होगा, लेकिन क्या कभी ये भी सुना है कि एक बाजार ऐसा भी है जहां की सभी दुकानें महिलाएं ही संभालती है। जी हां, यह बाजार असम के नगांव—मोरीगांव जिले ठेकेरागुड़ी में है। यहां पर लगभग 50 सालों से महिलाएं ही सभी दुकानों को संचालित करती हैं।


आपको बता दें कि ठेकेरागुड़ी नारियल पानी के लिए मशहूर है। नारियल पानी के अलावा अब यहां की दुकानों में बांस से हस्तनिर्मित सामान भी भारी मात्रा में मिलते हैं। इनमें डाभ, सराई, जापी, फूलदानी, टोपी और टोकरियों समेत अनेक बांस और बेंत निर्मित वस्तुएं मिलती हैं। महिलाओं वाला यह बाजार सुबह 5 बजे खुलता और रात को 8 बजे तक चलता है।


यहां पर लगभग 40 दुकानें हैं जिनका संचालन ​पूरी तरह से महिलाओं द्वारा ही किया जाता है। इस बाजार की दुकानों से जो आय होती है उनके मुनाफे से महिलाएं अपना घर चलाने में मदद करती हैं। इन सामानों को बनाने में उनके पति भी हाथ बंटाते हैं। ऐसे यह बाजार महिलाओं के लिए आदर्श बन चुका है जिससें कोई सीख ले सकता है।