कोहिमा। ।

नागालैंड में एक दूध बेचने वाले की बेटी ने सीबीएसई 10वीं की परीक्षा में टॉप-10 में जगह बना के सबको चौंका दिया है। कोहिमा के बाहरी इलाके में रहने वाली 16 वर्षीय छात्रा का नाम मोमिता कार्की है। इन्होंने इस सफलता से ये साबित कर दिखाया है कि कोई भी बाधा किसी व्यक्ति को रोक नहीं सकती।



कार्की ने केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की 10वीं की परीक्षा में नागालैंड में शीर्ष 10 रैंक में शामिल हैं। जिसका परिणाम 2 मई, 2019 को घोषित किया गया था।




मोमिता का घर राजधानी कोहिमा से लगभग 11 किलोमीटर दूर एल खेल गांव में स्थित है। उसे अपने घर से स्कूल तक जाने में 35 मिनट का समय लगता है।



वह रेजिमेंटल स्कूल, 4th नैप, थिज़ामा की छात्रा है। वहीं नागालैंड बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (NBSE) द्वारा आयोजित इस साल की हाई स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट (HSLC) परीक्षा में कार्की ने सभी विषयों में 95.33 प्रतिशत अंक हासिल किए।



कार्की अपने बड़े भाई मनोज से प्रेरित थी जो 2014 में एचएसएलसी परीक्षाओं में अव्वल आया था। कार्की अपनी सफलता का श्रेय अपने मकान मालिक विनुजो मपेफू को देती हैं, जिसे वह अपनी सफलता के लिए गॉडफादर मानती हैं।



छात्रा की मां ने कहा, 'वह मेरे काम में बहुत मदद करती हैं। साथ ही वह पढ़ाई भी दिल लगा कर करती है। जिसकी वजह से उसने ये सफलता हासिल की है।